WAKE UP

WAKE UP dear daughter

0
880

WAKE UP

All the time on air show

favorite people in the show

Circumstances what you stuck

Every moment with good luck

Without any single cut

Without any if and but

Dear daughter it’s enough

It’s the time now wake up

Every where mist and dews

Beautiful valley as your views

Dreamy days twinkling nights

Smiley faces never been fight

Paths without no hurdles

Barefoot flight with hurtle

Dear daughter it’s enough

It’s the time now wake up

Hustle bustle all the way

No one worried what you say

If you cry they will laugh

If you shy they will talk

It’s the time get rid of nay

Parch all of your illusive hay

Dear daughter it’s enough

It’s the time now wake up

          Priti Raghav Chauhan

VIAPRITI RAGHAV CHAUHAN
SOURCEPritiraghavchauhan.com
SHARE
Previous articleतिनका
Next articleसूरज बर्फ की ट्रे में
नाम:प्रीति राघव चौहान शिक्षा :एम. ए. (हिन्दी) बी. एड. एक रचनाकार सदैव अपनी कृतियों के रूप में जीवित रहता है। वह सदैव नित नूतन की खोज में रहता है। तमाम अवरोधों और संघर्षों के बावजूद ये बंजारा पूर्णतः मोक्ष की चाह में निरन्तर प्रयास रत रहता है। ऐसी ही एक रचनाकार प्रीति राघव चौहान मध्यम वर्ग से जुड़ी अनूठी रचनाकार हैं।इन्होंने फर्श से अर्श तक विभिन्न रचनायें लिखीं है ।1989 से ये लेखन कार्य में सक्रिय हैं। 2013 से इन्होंने ऑनलाइन लेखन में प्रवेश किया । अनंत यात्रा, ब्लॉग -अनंतयात्रा. कॉम, योर कोट इन व प्रीतिराघवचौहान. कॉम, व हिन्दीस्पीकिंग ट्री पर ये निरन्तर सक्रिय रहती हैं ।इनकी रचनायें चाहे वो कवितायें हों या कहानी लेख हों या विचार सभी के मन को आन्दोलित करने में समर्थ हैं ।किसी नदी की भांति इनकी सृजन क्षमता शनै:शनै: बढ़ती ही जा रही है ।

LEAVE A REPLY