देश भक्ति गीत /ए भगतसिंह तेरी फिर आज जरूरत है

ए भगतसिंह तेरी फिर आज जरूरत है

8
2232
भगत सिंह
ऐ भगत सिंह

ए भगतसिंह तेरी फिर आज जरूरत है

तू लौट के आजा रे खाली तेरी मूरत है

मेरे देश को खतरा है घर के गद्दारों से

इन जात धर्म वाले काले हथियारों से

तू संगी लेकर आ अब सही मुहूर्त है

ए भगतसिंह तेरी फिर आज जरूरत है

तू लौट के आजा रे खाली तेरी मूरत है

तूने देश की खातिर था घर द्वारा छोड़ दिया

सूली पर चढ़ बैठा मुँह अपना मोड़ लिया

तू लौट के आजा रे तू हिंद की सूरत है

ए भगतसिंह तेरी फिर आज जरूरत है

तू लौट के आजा रे खाली तेरी मूरत है

तुझे हर घर हर दर पर ये दस्तक देना होगा

हर बालक को अपना मस्तक देना होगा

तेरी देश भक्ति की आज हर घर को जरूरत है

ए भगतसिंह तेरी फिर आज जरूरत है

तू लौट के आजा रे खाली तेरी मूरत है

प्रीति राघव चौहान

VIAPriti Raghav Chauhan
SOURCEPriti Raghav Chauhan
SHARE
Previous articleस्वतंत्रता दिवस पर दिल से
Next articleआज शांत बहुत शांत है मन
नाम:प्रीति राघव चौहान शिक्षा :एम. ए. (हिन्दी) बी. एड. प्रीति राघव चौहान मध्यम वर्ग से जुड़ी अनूठी रचनाकार हैं।इन्होंने फर्श से अर्श तक विभिन्न रचनायें लिखीं है ।1989 से ये लेखन कार्य में सक्रिय हैं। 2013 से इन्होंने ऑनलाइन लेखन में प्रवेश किया । अनंत यात्रा, ब्लॉग -अनंतयात्रा. कॉम, योर कोट इन व प्रीतिराघवचौहान. कॉम, व हिन्दीस्पीकिंग ट्री पर ये निरन्तर सक्रिय रहती हैं ।इनकी रचनायें चाहे वो कवितायें हों या कहानी लेख हों या विचार सभी के मन को आन्दोलित करने में समर्थ हैं ।किसी नदी की भांति इनकी सृजन क्षमता शनै:शनै: बढ़ती ही जा रही है ।

8 COMMENTS

  1. Its like you read my mind! You appear to grasp a lot about this, such as you wrote the e-book
    in it or something. I believe that you just can do with
    some percent to pressure the message home a bit, but other than that, that is excellent blog.
    An excellent read. I’ll definitely be back. http://Www.emeow.com/__media__/js/netsoltrademark.php?d=gdjh.vxinyou.com%2Fbbs%2Fhome.php%3Fmod%3Dspace%26uid%3D2101320%26do%3Dprofile%26from%3Dspace

LEAVE A REPLY